Matlabi Shayari

हमारी जिंदगी में बहुत से लोग हैं कोई दोस्त है, कोई प्रेमी-प्रेमिका है और बहुत से रिश्तेदार हैं जिसे हम अपना समझते हैं। लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि यही लोग अपने मतलब के लिए हमें धोखा दे जाते हैं। वह सिर्फ अपना फायदा देखते हैं। ऐसे में हर किसी को बुरा लगता है तब आप अपनी Feelings किसी के साथ शेयर नहीं कर बातें इसीलिए हम आपके लिए यह Matlabi Shayari लाए हैं जिसके द्वारा आप अपनी भावनाओं को एक्सप्रेस कर सकते हैं।

हम सबके जीवन में बहुत से रिश्ते ऐसे होते हैं जो हमारे लिए बेहद ही खास होते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि यह रिश्ते उनके लिए खास है या नहीं जिसे आप अपना बेहद खास समझते हैं। क्योंकि आज के समय में बहुत से रिश्ते ऐसे हो गए हैं जो केवल नाम के लिए ही रह गयें है जो मौका मिलते ही अपने मतलब के लिए आपको धोखा दे जाते हैं। इसीलिए तो कहते हैं कि इस मतलब की दुनिया में कौन किसका होता है, धोखा भी अक्सर वही लोग देते हैं जिस पर सबसे ज्यादा भरोसा होता है।

Matlabi Shayari in Hindi | Matlabi Log Shayari | मतलबी शायरी

“सब मतलब की यारी है, यही दुनिया की सबसे बड़ी बीमारी है।”

Matlabi Shayari

“सच्चे मित्र ढूंढिए मतलबी यार तो अपने आप आपको ढूंढ लेंगे।”

Matlabi Shayari

“यहाँ पर हर बन्दा मतलब की हद तक साथ चलता है।”

Matlabi Shayari

“बुरे वक्त की सबसे अच्छी बात यह है कि जब ये आता है तब मतलबी दोस्त दूर हो जाते है।”

Matlabi Shayari

“कुछ यूँ हुआ कि जब भी जरुरत पड़ी, हर शख्स इतेफाक से मजबूर हो गया।”

Matlabi Shayari

“वादे कर बड़े मुकर जाते है मतलबी दुनिया वाले, मतलब के लिये मर जाते है।”

Matlabi Shayari

“मतलब ख़तम राब्ता ख़तम यह है दुनियां का रसम।”

Matlabi Shayari

वक्त था हर वो रिश्ता सुधारने का जो हमारे बीच था, मगर स्वार्थ और प्यार में तूने स्वार्थ को चुना जो प्यार में लिए ना गवारा था।

विश्वास की डोर एक धोखे से तोड़ जाते है, मतलबी लोग की फितरत है की, वो अपनों को बीच रस्ते में छोड़ जाते है।

मतलबी दुनिया के मतलबी नज़ारे, अपने ही स्वार्थ के सभी यहां मारे, अब विश्वास ना रहा अब किसी के सहारे, इसलिए कहता हूँ इस छोटी सी जिंदगी को बस अकेले गुजरें।

प्यार से अपना कह कर मतलब के लिए आती है, अपनों के लिबाज़ में ये दुनिया जख्म दे जाती है।

Matlab Ki Duniya Shayari | Matlabi Shayari

बहुत से व्यक्ति ऐसे होते हैं जो ऊपर से बहुत मीठा मीठा बोलते हैं लेकिन अंदर से बहुत मतलबी होते हैं। मुसीबत के समय में जब सबसे ज्यादा उनकी जरूरत आपको होती है तभी हाथ छुड़ाकर भाग जाते हैं। Matlabi Log Shayari पढ़कर आपका मन हल्का और आपको अंदर से अच्छा महसूस होगा।

देकर कुर्बानी अपने चाहत कि जानम, हम अपनी नजरों में महान हो गए, इस्क दिखता है अब किताबो में जानम, ना जाने क्यों मतलबी इंसान हो गए।

खर्च कर दिया खुद को, कुछ मतलबी लोगो पर, जो हमेशा मेरे साथ थे, सिर्फ मतलब के लिए।

कुछ मतलबी लोग ना आते, तो जिंदगी इतनी बुरी भी ना थी, मैं सूरज के साथ रहकर भी भूला नहीं अदब, लोग जुगनू का साथ पाकर मगरूर हो गये।

ना कोई कस्ती ना कोई किनारा, मतलबी है दुनिया मतलबी जग सारा, रिश्तों की डोर का अब ना कोई सहारा, मतलबी लोगो का मतलब का भाईचारा।

“ज़िन्दगी जिने का कुछ ऐसा अंदाज रखो, मतलबी दोस्तों को नजर अंदाज़ रखो।”

Matlabi Shayari in Hindi

“अच्छे दोस्त कभी मतलबी नहीं होता हैं, मतलबी लोग कभी अच्छे दोस्त नहीं होते हैं।”

Matlabi Shayari in Hindi

“मतलबी दुनिया में लोग खड़े हैं, हातो में पत्थर लेकर, मैं कहां तक भागू शीशे का मुकद्दर लेकर।”

Matlabi Shayari in Hindi

“मतलबी दुनिया का किस्सा बड़ा पुराना हैं, यह हर शख्स खूबसूरत चीजों के पीछे दीवाना है।”

Matlabi Shayari in Hindi

“जिनकी दुआ किया करते है हजारों में, वहीं बेचते है रिश्ते बाजारों में।”

Matlabi Shayari in Hindi

“इस मतलब की दुनिया में कौन किसी का होता है वही दोस्त धोखा देते हैं जिनपर भरोसा सबसे ज्यादा होता है।”

Matlabi Shayari in Hindi

“अब दोस्ती वालो का जमाना गया यारो, ये मतलबी लोगों का दौर है।”

Matlabi Shayari in Hindi

जरूर एक दिन वो शख्स तड़पेगा हमारे लिए, अभी तो खुशियाँ बहोत मिल रही है उसे मतलबी लोगो से।

मैं मतलबी नहीं जो साथ रहने वालो को धोखा दे दू, बस मुझे समझना हर किसी के बस की बात नहीं।

कुछ की फितरत मगर कुछ की मज़बूरी होती है, जिंदगी में धोखे की लत इतनी जरुरी होती है, माना आप सिर्फ अपने मतलब को जानते हो, मगर उस मतलब के लिए हमे क्यों अपना मानते हो।

कोहनी पर टिके हुए लोग, टुकङों पर बिके हुए लोग, करते हैं बरगद की बातें ये गमले में उगे हुए लोग।

Matlabi Shayari in Hindi | Matlabi Duniya Shayari

कुछ लोग मतलब के लिए ही रिश्ता जोड़ते हैं और अपना काम बन जाता है उसके बाद लोगों का दिल तोड़ देते हैं। उनको ऐसा लगता है कि उनसे ज्यादा चलाक कोई नहीं है लेकिन असलियत में वह ऐसा करके वह अपना ही नुकसान करते हैं। इसीलिए ऐसे लोगों की परख करना सीखिए, ऐसे लोग मुंह पर कुछ और आपके पीठ पीछे कुछ और ही बात करते हैं ऐसे लोगों से दूरी बना कर रखना है अच्छा होता है।

भरोसे की आड़ में उन्होंने मुझे बहुत सताया है, मतलबी लोगों की तरह शायद, मतलब के लिए उन्होने मुझे अपना बनाया है।

जब रिश्ता नया होता हैं तो, लोग बात करने का बहाना ढुढते हैं, और जब उही रिश्ता पुराना हो जाता हैं, तो लोग दुर होने का बहाना ढुढते हैं।

कौन किसको दिल में जगह देता हैं, सूखे पत्ते तो पेड़ भी गिरा देता हैं, वाकिफ हैं हम दुनिया के रिवाजो से, मतलब निकल जाये तो हर कोई भुला देता हैं।

मेरी मासुमीयत पर हंसते हैं, मतलब निकालने वाले, खुद को बहुत समझदार समझते हैं, ये शहर में रहने वाले।

“उनका मतलबी होना भी पसंद है हमें, मतलब से ही सही याद तो करते हैं हमें।”

Matlabi Dost Shayari

“मतलबी दुनिया में आपकी इज्जत उतनी ही है, जितनी इन्हे आपकी जरूरत है।”

Matlabi Logo Ke Liye Shayari

भुला देंगे तुम्हे भी जरा सब्र तो कीजिए, आपकी तरह मतलबी होने में जरा वक्त लगेगा।”

Matlabi Shayari in Hindi

“अब कटेगी ज़िंदगी सुकून से कुछ दिन तक, अब हम भी कुछ दिन के लिए मतलबी हो गए हैं।”

Matlabi Duniya Shayari

“मतलबी लोगों का दौर है यारों, यहां देख कर भी अनदेखा करते हैं हज़ारों।”

Matlab Ki Duniya Shayari

“कुछ रिश्ते मुनाफा नहीं देते, पर ज़िन्दगी जरूर अमीर बना देते हैं।”

Matlabi Log

“अभी मतलबी होने ही जा रहे थें, के तभी मेरी बदनसीबी मुझे याद आ गयी।”

Matlabi Log Shayari

मतलबी दुनिया में लोग अफसोस से कहते है की, कोई किसी का नही, लेकीन कोई यह नहीं सोचता की हम किसके हुए।

हुस्न के साथ मतलबी नकाब निकलता है, अक्सर चमकता सोना खराब निकलता है।

हम मतलबी नहीं की चाहने वालो को धोखा दे, बस हमें समझना हर किसी की बसकी बात नही।

हम विश्वास को इंसानियत मनाते थे, पर वो मतलबी लोग तो सिर्फ अपने मतलब को ही जानते थे।

Matlabi Shayari | Matlabi Logo Ke Liye Shayari

बुरे लोगों की पहचान होती है आप उनको जितना इज्जत देंगे उतना ही आपको वो तकलीफ देंगे। इससे अच्छा है कि ऐसे लोगों की पहचान होते ही उससे दूर हो जाए। जो इंसान आपके बुरे समय में आपसे मिलने ना आए, ना आपसे फोन पर बात करें और जब उसे जरूरत पड़े तो बहुत ही नरम दिल से बात करें ऐसे व्यक्ति बहुत ही मतलबी होते हैं। ऐसे व्यक्तियों से सतर्क रहने में ही हमारी भलाई है।

कोई कहता हैं दुनिया प्यार से चलती है, कोई-कहता हैं दुनिया दोस्ती से चलती है, लेकिन जब अजमाया तो पता, दुनिया तो बस मतलब से चलती है।

निकल गया मतलब या और कोई काम लोगे, बदनाम तो हो ही गये हैं और कितना नाम लोगे।

गर्म चाय भी देती है एक सीख हरदम, मतलबी है दुनिया बहुत इसलिए फूंक फूंक कर रखना हर कदम।

“जिन दोस्तों के इरादे मतलब भरे होते है, उनकी हर मुलाकातों में मकसद भरे होते है।”

Matlabi Shayari

“मुझे क्या हक़ मैं किसी को मतलबी कहुं, मैं “खुद” खुदा को मुसीबत मे याद करता हूँ।”

Matlabi Shayari

“दिलों में मतलब और जुबान से प्यार करते हैं, बहुत से लोग दुनिया में यही कारोबार कर हैं।”

Matlabi Shayari

“मुझको छोड़ने की वज़ह तो बतादे, मुझसे नाराज़ थे या मुझ जैसे हजारो थे।”

Matlabi Shayari

“देखो सब को अपनी तलब लगी है, भीड़ बहुत है लेकिन सब मतलबी है।”

Matlabi Shayari

“पहले तो बस सुना था, तुमसे मिलकर जाना की दुनिया कितनी मतलबी है।”

Matlabi Shayari

“कुछ यूँ हुआ कि जब भी जरुरत पड़ी मुझे, हर शख्स इतेफाक से मजबूर हो गया।”

Matlabi Shayari

उम्र गुजरती गयी तेज रफ्तार की डर से, मतलबी लोगों की पहचान हुई, एक साहूकार की नज़र से, जो स्वार्थ के लिए सबको अपना मानते थे पर मतलबी थे बस धोखा देना जानते थे।

इस दुनिया से कहीं दूर चले जाने को जी चाहता है, मतलबी दुनिया में ना रह कर मर जाने को जी चाहता है।

Matlabi Dost Shayari | Matlabi Shayari | किसी के लिए कितना भी करो शायरी

चाहे वह प्यार हो या रिश्तेदार है हर रिश्ते में कोई ना कोई व्यक्ति मतलबी होता है। जो अपने काम के लिए आप का उपयोग करता है ऐसे व्यक्ति बहुत ही चालू किस्म के होते हैं। वह किसी ना किसी बहाने से अपना काम निकलवा ही लेते हैं और ऐसा अक्सर प्यार में होता है। प्यार के वादे तो बहुत करते हैं और जब निभाने का समय आता है तो छोड़ कर चले जाते हैं। यह Matlabi Shayari in Hindi आपको मतलबी इंसान पहचानने में मदद करवाएगा।

वक़्त की आग में पत्थर भी पिघल जाते हैं, हसी लम्हे टूटकर अशकों में बह जाते हैं, कोई साथ नहीं देगा इस जि़दगी में हमारा, क्योंकि वक़्त के साथ इंसान बदल जाता हैं।

जो बुरे वक्त में जो आप की कमियां गिनाने लग जाए, उससे बड़ा मतलबी इंसान कोई नही है।

मेरी दुनिया का हर शख्स मतलबी निकला, घर एक आईना था बस वही वफादार निकला।

“दोस्ती करने के उनके अंदाज बोहोत है, मगर छिपे इसमें मतलब के राज़ बोहोत है।”

Matlabi Shayari

“उन्हें बेवफा जो बोलों तो तौहीन है वफ़ा कि, वो तो निभा रहे है कभी उधर कभी इधर।”

Matlabi Shayari

“जिनको हमने इस दिल में बसा रखा था, उनका नाम तो मतलबी लोगो में आ रखा था।”

Matlabi Shayari

“कैसे करू भरोसा गैरो के प्यार पर, अपने ही मजा लेते हैं अपने कि हार पर।”

Matlabi Shayari

“ऐसी मतलबी दोस्ती की जरूरत नहीं, जो वक़्त और माहौल के साथ बदलती हो।”

Matlabi Shayari

“ये दिन है के यारों का भी भरोसा नहीं, वो दिन थे के जब दुसमन से भी नफरत ना थी।”

Matlabi Shayari

लोग भी बडे मतलबी होते है, जब हो जरूरतें तो पास आते है, वर्ना जरूरतें ख़त्म होने पर, आपको छोड़ जाते हैं।

इस झूठी और मतलबी दुनियां में मन नहीं लगता, ए खुदा मुझे उनकी बाहों का दीदार करा दे।

मतलब से कितने ही रिश्ते बनाने की कोशिश करो, वो रिश्ता कभी नहीं बनता, और प्यार से बने रिश्ते को तोड़ने की कितनी भी, कोशिश करो वो रिश्ता कभी नहीं टुटता।

मतलबी है दुनिया फिर भी ये दिल मानता नहीं, अपनों की साजिशो को ये बिल्कुल भी पहचानता नहीं, सब मतलबी है यहां लगता है इतना वो जानता नहीं, अगर पता होता तो शायद वो किसी को अपना मानता नहीं।

Final Thought About Matlabi Shayari

Matlabi Log से बचने के लिए सिर्फ आप अपने ही काम पर ध्यान दें झूठे कसमे वादे  के चक्कर में ना पड़े नकारात्मक लोगों से दूर रहेंअक्सर नकारात्मक लोग ही मतलबी होते हैं जो खुद तो कुछ नहीं करते हैं और दूसरों के काम में अड़चन डालते रहते हैंलेकिन जब उनको जरूरत पड़ती है तब अचानक से रोज बातें करने लगते हैं और अचानक से मिलने आने लगते हैं तो समझ लेना कि वह व्यक्ति मतलबी है।

दोस्तो, आशा करते है कि हमारे द्वारा दिये गए Matlabi Shayari आप सभी को खूब पसंद आये होंगे। यहाँ पर दिए गए सभी Matlabi Log Shayari हम ख़ासतौर पर आपके लिए चुन कर लाये है।

आपलोगों को हमारा ये Matlabi Shayari in Hindi कैसा लगा जरुर Comment कर के हमें बताइयेगा और कृपया आप अपने FacebookWhatsApp और Other Social Media Platforms पर शेयर करना ना भूले।

इन्हे भी पढ़ें:-

Previous article[90+ Latest] Bharosa Shayari – भरोसा शायरी | Vishwas Shayari
Next article[120+ Latest] Ishq Shayari in Hindi – इश्क शायरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here